16.2 C
Dehradun
Friday, February 23, 2024

कलियुग केवल नाम अधारा, सुमिर सुमिर नर उतरहि पारा।

लोहाघाट (चंपावत)। बिशुंग के ढेरनाथ बाबा मंदिर में चल रही संगीतमय शिव महापुराण कथा हवन, यज्ञ और भंडारे के साथ संपन्न हो गई। भंडारे में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया। सोमवार को पुरोहित गोपाल दत्त मुरारी, कृष्णानंद मुरारी और रघुवर मुरारी ने पूजा अर्चना सहित विभिन्न धार्मिक अनुष्ठान कराए।

कथावाचक योगी शैलेंद्र नाथ ने कहा कि हवन करने से प्राकृतिक वातावरण में शुद्धता के साथ-साथ आंतरिक अवगुण भी दूर होते हैं। उन्होंने कहा, कलियुग केवल नाम अधारा सुमिर सुमिर नर उतरहि पारा। कलियुग में जीवन के सभी पापों से मुक्ति का एक मात्र आधार भगवान की भक्ति ही है। भगवान का नाम स्मरण करने से ही भक्तों को मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है।

हवन में श्याम सिंह, राजेंद्र सिंह, कैलाश सिंह,दान सिंह, गिरीश सिंह, उत्तम सिंह, दरवान सिंह, अर्जुन सिंह, मथुरा दत्त ने आहुतियां दीं। आयोजक योगी बाबा भक्ताई नाथ ने श्रद्धालुओं को आशीर्वाद दिया। इस दौरान अजय सिंह, रोहन सिंह बिष्ट, विनोद सिंह, दीपक सिंह, विवेक सिंह, विशाल सिंह, रोहित सिंह आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles