33.2 C
Dehradun
Friday, April 19, 2024

दारमा घाटी के उत्तराखंड के इन दो गांव में भी फोन की घंटी बजी, ग्रामीण खुशी से झूम उठे

उत्तराखंड में चीन सीमा से सटी दारमा घाटी के दो गांव बोन और बॉलिंग में भी मोबाइल नेटवर्क की सुविधा मिल गई है। पिछले हफ्ते जिओ ने अपना मोबाइल टावर यहां लगाने का काम पूरा किया है। जिसके बाद ग्रामीणों को संचार सुविधा मिलने लगी है।

फोन में नेटवर्क आए तो ग्रामीण खुशी से झूम उठे। इसके बाद लोगों ने निचली घाटी में रह रहे अपने परिजनों से फोन में बात की। साथ ही केंद्र और राज्य सरकार का आभार जताया। 

उत्तराखंड में चीन सीमा से सटी दारमा घाटी के दो गांव बोन और बॉलिंग में भी मोबाइल नेटवर्क की सुविधा मिल गई है। पिछले हफ्ते जिओ ने अपना मोबाइल टावर यहां लगाने का काम पूरा किया है।

जिसके बाद ग्रामीणों को संचार सुविधा मिलने लगी है। फोन में नेटवर्क आए तो ग्रामीण खुशी से झूम उठे। इसके बाद लोगों ने निचली घाटी में रह रहे अपने परिजनों से फोन में बात की। साथ ही केंद्र और राज्य सरकार का आभार जताया। 

ग्राम प्रधान सपना बोनाल ने बताया की जिओ का मोबाइल टावर लगने से उनके गांव की लगभग एक हजार की आबादी को लाभ मिलेगा। वहीं ग्राम पंचायत बालिंग के ग्राम प्रधान भगवती बंग्याल ने बताया की उनके गांव की लगभग 700 की आबादी को मोबाइल नेटवर्क का लाभ मिलेगा।
 
जिओ के इंजीनियर यशपाल पंवार ने बताया की दारमा घाटी में छह महीने पूर्व ग्राम पंचायत तिदांग संचार से जुड़ गया है और पिछले हफ्ते ग्राम पंचायत बोन और ग्राम पंचायत बालिंग संचार माध्यम से जुड़ गया है।
 
उन्होंने बताया की दारमा घाटी का अंतिम ग्राम सीपू, ग्राम गो और ग्राम नागलिंग में अभी फाउंडेशन का कार्य चल रहा है। ये ग्राम भी दो तीन महीने के अंदर मोबाइल नेटवर्क से जुड़ जाएंगे। 

ग्राम प्रधान दांतू जमन सिंह दताल ने बताया की दारमा घाटी में सड़क और मोबाइल नेटवर्क की सुविधा से लगभग सभी गांव जुड़ गए हैं।

 

 

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles