23.2 C
Dehradun
Monday, April 15, 2024

घर के ऊपर भारी बोल्डर गिरा, घर के मालिक बाल-बाल बच गया, और एक घंटे बाद जेई को दलदल में फंसे हुए निकाला गया।

बारिश से टनकपुर तवाघाट एनएच के तपोवन के एनएचपीसी गेट के पास खोतिला में घर के ऊफर में भारी बोल्डर और मलबा आने से घर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। उस समय भवन स्वामी घर में सो रहे थे। उन्हें आभास हुआ कि वह घर से बाहर दौड़ा। वहीं, तवाघाट लिपुलेख सड़क के पेलसती झरने के पास एक जेई दलदल में फंस गया। एक घंटे की कोशिश के बाद उन्हें निकाला जा सका।

टनकपुर तवाघाट में चिंतामणि भट्ट का आठ कमरे का घर लगातार बारिश से क्षतिग्रस्त हो गया। उन्होंने बोल्डर की आवाज सुनते ही भागकर बच गए। गृहस्वामी ने बताया कि वे दूसरे कमरे में एक दुकान चलाते हैं और इससे अपना जीवन चलाते हैं। उनका आरोप था कि हिलवेज, सड़क कटिंग करने वाली संस्था, लापरवाही करती थी। उसने कहा कि हिलवेज कंपनी के अधिकारी को कई बार सड़क पर लटके बोल्डर और मलबा हटाने के लिए कहा गया था, लेकिन आज वे बेघर हो गए हैं।

पीड़ित के पिता प्रेम बल्लभ और उपजिलाधिकारी दिवेश शाशनी को पत्र लिखकर हिलवेज कंपनी से क्षतिपूर्ति की मांग की है। घटना की सूचना मिलते ही राजस्व निरीक्षक विनोद कुमार मौके पर पहुंचे और क्षति की जांच की। टनकपुर तवाघाट एनएच के तपोवन में बारिश से बोल्डर और मलवा आने से कई वाहन और लोग फंसे हैं।

घर के ऊपर भारी बोल्डर गिरा, घर के मालिक बाल-बाल बच गया, और एक घंटे बाद जेई को दलदल में फंसे हुए निकाला गया।

हिलवेज की कार्यशैली पर स्थानीय लोगों ने नाराजगी जताते हुए कहा कि बलुवाकोट से तवाघाट सड़क कटिंग के कारण नयाबस्ती, गोठी और दोबाट में हर दिन सड़क बंद होने से लोगों को बहुत परेशानी हो रही है।

वहीं, तवाघाट लिपुलेख सड़क पर एक जेई दलदल में फंस गया। उन्हें एक घंटे की जदोजद के बाद बाहर निकाला जा सकता था।

पेलसती में पिछले एक सप्ताह से सड़क बंद है, रं यूथ फोरम के अध्यक्ष हरीश सिंह कुटियाल ने बताया। वहीं कल रात की बारिश से छकंन, मलघाट, वर्तीघाट और गस्कू में सड़क बंद हो गई, जिससे कई वाहन और लोग फंस गए।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles