23.2 C
Dehradun
Monday, April 15, 2024

नारायणनगर कॉलेज में बढ़ रही संख्या में विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए शिक्षक नहीं हैं

DD Hatt (पिथौरागढ़) 60 के दशक में बने नारायणनगर डिग्री कॉलेज में शिक्षकों की कमी से विद्यार्थियों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। इस महाविद्यालय में स्नातक से स्नातकोत्तर की कक्षाएं हैं, लेकिन स्नातक स्तर के कई प्राध्यापकों के पद खाली हैं।

नारायणनगर स्थित संत नारायण स्वामी राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में स्नातक स्तर पर बीए और बीएससी स्नातकोत्तर में एमए की कक्षाएं हैं। पिथौरागढ़ महाविद्यालय के कैम्पस बनने के बाद से इस महाविद्यालय में लगातार वृद्धि हो रही है। बीएससी में जंतु विज्ञान, भौतिक विज्ञान या गणित के प्रोफेसर नहीं हैं।

महाविद्यालय में कई सालों से कोई प्राचार्य नहीं है। BSCS की संख्या लगातार बढ़ रही है, छात्रसंघ अध्यक्ष अजय अवस्थी ने बताया। बीएससी के महत्वपूर्ण विषयों में शिक्षकों की कमी से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। उनका कहना था कि उच्च शिक्षा मंत्री को पत्र भेजा गया है जो प्राचार्यों और शिक्षकों की नियुक्ति की मांग करता है।

कैम्पस की लागत लगभग तीन से छह हजार रुपये है।

डीडीहाट(पिथौरागढ़)। पिथौरागढ़ कैम्पस में पहले सेमेस्टर में शुल्क लगभग तीन से छह हजार रुपये है। नारायण नगर डिग्री कॉलेज में वर्तमान में 1800 से 2000 रुपये की फीस है। जिससे इस डिग्री कॉलेज में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। बीएससी में शिक्षकों की कमी विद्यार्थियों को बाहर धकेल रही है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles