23.7 C
Dehradun
Wednesday, May 15, 2024

केन्द्रीय नेतृत्व से मिली हरी झंडी बीजेपी ने 19 जिलाध्यक्ष बनाए, उत्तरकाशी के यमुनाघाटी में राजनैतिक परिपक्वता से सत्येंद्र राणा को मिली कमान।

देहरादून। लंबे मंथन और केंद्रीय नेतृत्व से हरी झंडी मिलने के बाद भाजपा ने प्रदेश में सभी सांगठनिक जिला इकाइयों के अध्यक्षों के नामो की रविवार देर रात घोषणा कर दी। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह सिंह चौहान ने बताया कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के निर्देश पर जिलाध्यक्षों की घोषणा की गई है।
प्रदेश भाजपा की कमान पूर्व विधायक महेंद्र भट्ट को सौंपे जाने के बाद नई प्रदेश कार्यकारिणी गठित की गई। साथ ही जिला इकाइयो के गठन को कसरत शुरू की गई। इस बीच भाजपा प्रांतीय नेतृत्व के अनुरोध पर केंद्रीय नेतृत्व ने राज्य में पार्टी के सांगठनिक जिलों की संख्या 14 से बढ़ाकर 19 करने के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी। इसके बाद सभी जिलों में जिलाध्यक्षों के नामो का पैनल तय करने के लिए पार्टी के प्रांतीय नेताओं को भेजा गया। हरिद्वार को छोड़कर सभी जिलों से पैनल पार्टी के प्रांतीय नेतृत्व को मिल गए थे। तब हरिद्वार में पंचायत चुनाव के कारण पैनल तय नहीं हो पाया था। पंचायत चुनाव में परचम लहराने के बाद हरिद्वार के जिलाध्यक्ष के लिए नामों का पैनल तय कर दिया गया।
हाल में सभी जिला इकाइयों के अध्यक्ष के नामों का पैनल केंद्रीय नेतृत्व को भेजा गया। पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व से अनुमोदन मिलने के बाद प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने जिलाध्यक्षों की घोषणा कर दी। अब सभी जिलाध्यक्ष अपने-अपने जिलों में जल्द ही जिला इकाइयों के गठन करेंगे।
उत्तरकाशी में गंगाघाटी बनाम यमुनाघाटी
उधर उत्तरकाशी जिले से राजनैतिक सूत्र बताते है कि  यमुनाघाटी के कार्यकर्ता संगठन में भी बाजी मार गए है यही वजह रही कि लगातार दूसरी बार यमुनाघाटी से बीजेपी जिलाध्यक्ष पद पर नियुक्ति की गई है। जनपदभर में इस बात की सुगबुगाहट आम हो गई है कि दो घाटियों में बँटा (गंगा और यमुना) उत्तरकाशी जिले में राजनैतिक खींचतान चरम पर रही है। राजनैतिक इतिहास के मुताबिक़ यमुना वैली के लोग अत्यधिक राजनैतिक तौर पर परिपक्व माने जाते हैं। जबकि इस बात को गंगा वैली के लोग सिरे से नकारते हैं। एक राजनैतिक जानकर ने नाम न छापने की शर्त पर जानकारी दी कि गंगा वैली के कार्यकर्ताओं की उपेक्षा संगठन में ही नही बल्कि पंचायत एवं विधानसभा चुनाव में भी देखी गई है। वर्षों से ऐसा होता आ रहा है। उन्होंने बड़ा खुलासा करते हुए कहा जिस दौरान गंगाघाटी को ओबीसी का दर्जा प्राप्त हुआ था उस दौरान भी क्षेत्रवादी विचारधारा सामने आई थी,तत्कालीन सीएम विजय बहुगुणा ने इस तरह के फरियादियों को फटकार लगाई थी। हालाँकि किसी भी राजनैतिक दल के लिए इस तरह की विचारधारा मायने नही रखती। बीजेपी हो या कांग्रेस जनपद के प्रत्येक कौने का व्यक्ति दल का वर्कर होता है। लेकिन इस तरह की विचारधारा से संगठन हो या समाज को हानि पहुँचती है। सभी विद्वानजनों ऐसी संक्रीण मानसिकता का विरोध करना चाहिए। हालाँकि राजनैतिक लोग इस बात का लाभ लेने से नही चूकते। सूत्र बताते हैं कि बीजेपी संगठन ने नए जिलाध्यक्षों की घोषणा तो कर दी मगर कहीं खुशी है तो कहीं गम।
ये लोग बने भाजपा के नवनियुक्त जिलाध्यक्ष
 उत्तरकाशी सतेंद्र राणा
टिहरी राजेश नौटियाल
चमोली रमेश मैखुरी
रुद्रप्रयाग महावीर पवार
देहरादून ग्रामीण मिता सिंह
देहरादून महानगर सीदार्थ अग्रवाल
ऋषिकेश रविंद्र राणा
हरिद्वार संदीप गोयल
रुड़की सोभाराम प्रजापति
पौड़ी सुषमा रावत
कोटद्वार विरेंद्र सिंह रावत
पिथौरागढ़ गिरीश जोशी
बागेश्वर इंद्र सिंह फ़र्शवाण
रानीखेत लीला बिष्ट
अलमोड़ा रमेश बहुगुणा
चम्पावत निर्मल मेहरा
नैनीताल प्रताप बिष्ट
काशीपुर गुंजन सुखीजा
ऊधम सिंह नगर कमल जिंदल

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles