16.3 C
Dehradun
Monday, March 27, 2023
spot_img

उत्तराखंड की भर्ती परीक्षाओं में धांधली के विरोध में बेरोजगारों की गर्जना, पुलिस ने भांजी लाठियाँ तो छात्रों ने किया पथराव।

देहरादून। भर्ती परीक्षाओं में धांधली के विरोध में प्रदेशभर में युवाओं का प्रदर्शन जारी है। सड़कों पर उतरी आक्रोशित युवाओं की भारी भीड़ के चलते कई जगहों पर ट्रैफिक जाम हो गया है। प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए युवाओं ने कहा कि नकलरोधी कानून आने के बाद ही कोई भी भर्ती परीक्षा कराई जाए।

 

#WATCH | Uttarakhand: Unemployed youth, protesting on the main Rajpur road in Dehradun demanding a CBI inquiry into recruitment irregularities, pelted stones at the Police force and damaged their vehicles. Heavy Police force present on the spot along with police administration.

 

राजधानी देहरादून में गुरुवार को भी गांधी पार्क के सामने विरोध करने युवाओं की भारी भीड़ उमड़ी, जिसके चलते यहां जाम लगाया गया है। घंटाघर से राजपुर रोड की तरफ ट्रैफिक जाम हो गया। उन्होंने मांग उठाई कि पूरे प्रकरण की सीबीआई जांच की जाए और दोषियों को कड़ी सजा दी जाए। साथ ही जब तक नकलरोधी कानून नहीं बन जाता, तब तक कोई भी भर्ती परीक्षा न कराई जाए।

पुलिस ने किया लाठीचार्ज, युवाओं ने किया पथराव
विरोध प्रदर्शन करते हुए गांधी पार्क से घंटाघर पहुंचे युवाओं ने जाम लगाया तो पुलिस ने युवाओं पर लाठीचार्ज शुरू कर दिया। वहीं आक्रोशित युवाओं की भीड़ ने भी पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। इससे पहले गांधी पार्क में बेरोजगार युवाओं से मिलने पहुंचे चकराता विधायक प्रीतम सिंह को युवाओं ने घेरा और गो बैक के नारे लगाए। इससे पहले जिलाधिकारी सोनिका  गांधी पार्क पहुंची,लेकिन युवाओं ने बात करने से मना कर दिया। कुछ युवाओं से बात करने की कोशिश की गई, लेकिन उन्होंने हंगामा कर दिया। उत्तरकाशी पहुंचे मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल को भी युवाओं के आक्रोश का सामना करना पड़ा।

उत्तराखंड बेरोजगार संघ के प्रदेश प्रवक्ता का कहना है कि लोक सेवा चयन आयोग और अधीनस्त सेवा चयन आयोग की ओर से करवाई गई सभी परीक्षाओं में जमकर धांधली हुई है। धांधली की वजह से तमाम परीक्षाएं निरस्त हुई हैं। पुलिस, पटवारी, वन क्षेत्राधिकारी, लोअर पीसीएस, अपर पीसीएस, आरओ, एआरओ, पीसीएस जे, प्रवक्ता एई, जेई की परीक्षाएं दे चुके युवा बेरोजगार घूम रहे हैं। ऐसे में परीक्षा नियंत्रकों पर भी सख्त कार्रवाई की जाए।

इसके अलावा नकल करने वाले और नकल करवाने वालों के नाम सार्वजनिक किए जाएं। सुरेश सिंह ने बताया कि पटवारी की परीक्षा 12 फरवरी को होनी है। संभव है कि इस परीक्षा में भी धांधली की जाएगी।

 

 

 

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,752FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles