30.2 C
Dehradun
Saturday, April 20, 2024

Uttarakhand में मौसम: अगले चार दिनों में भारी बारिश का यलो अलर्ट जारी किया गया, जिससे 275 सड़कें बंद हो गईं, जिसमें नौ राज्यों और तीन न्यूहाइट हाईवे शामिल हैं

Uttarakhand मौसम अपडेट: प्रदेश के सभी जिलों के अधिकतर क्षेत्रों में भारी बारिश होने की उम्मीद है। भूस्खलन से संवेदनशील क्षेत्रों में राजमार्ग और संपर्क मार्ग बंद हो सकते हैं।

सोमवार से अगले चार दिन तक राज्य में भारी बारिश होने की उम्मीद है। 27 जुलाई तक बारिश का यलो अलर्ट मौसम विभाग ने जारी किया है। प्रदेश के अधिकांश जिलों में भारी बारिश होने की उम्मीद है, मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया।

भूस्खलन से संवेदनशील क्षेत्रों में राजमार्ग और संपर्क मार्ग बंद हो सकते हैं। बीते 24 घंटों में अल्मोड़ा में औसत से 137 प्रतिशत अधिक 24 एमएम बारिश हुई है। ऊधमसिंह नगर में सबसे कम बारिश हुई। साथ ही, क्षेत्र में 12.5 एमएम बारिश हुई।

नौ राज्य हाईवे और तीन राष्ट्रीय राजमार्ग सहित 275 सड़कें बंद हैं

प्रदेश में लगातार बारिश ने लछमोली जामणीखाल राज्य मोटर मार्ग को किमी 24 पर बगवालधार के पास पूरी तरह से नष्ट कर दिया है। इसके अलावा, तीन राष्ट्रीय राजमार्गों सहित 275 सड़कें बंद हैं। सड़कें बंद होने से लोगों को जाना मुश्किल हो रहा है। यात्री भी फंसे हुए हैं।

कर्णप्रयाग में बाबा आश्रम के पास बदरीनाथ हाईवे बंद हुआ, लेकिन करीब एक घंटे में मार्ग खोल दिया गया। यह रास्ता अक्सर नंदप्रयाग, पीपलकोटी, छिनका, पागलनाला और कंचनगंगा के पास बंद हो जाता है। इससे बदरीनाथ धाम जाने वाले यात्रियों को कठिनाई हो रही है। समाचार लिखे जाने तक प्रदेश में तीन राष्ट्रीय राजमार्ग बंद थे। इनमें धरासू, कल्याणी, कुम्हाड़ा, गगनानी और डाबराकोट के पास राष्ट्रीय राजमार्ग 94 में पांच जगह बंद है। डोईवाला राष्ट्रीय राजमार्ग खंड एनएच 72-बी फैडीज से सनेल के बीच बंद है। 22 जुलाई से इस मार्ग को बंद कर दिया गया है। यह चमोली में NH 87-E Rudraprayag Division के तहत किमी 171 से 235 के बीच स्थित है।

इसके अलावा, टिहरी जिले में बगवालधार के पास लछमोली जामणीखाल राज्य मोटर मार्ग पूरी तरह से ध्वस्त हो गया है। आवासीय घर और दुकानें चट्टान की ओर से स्थित होने के चलते कटिंग संभव नहीं है। मार्ग फिलहाल खुला नहीं है। फिलहाल, इस मार्ग को जामणीखाल-तौली-नौसा-बागी-गुजेठा-हिसरियाखाल मोटरवे में बदल दिया गया है, जिससे वाहनों की आवाजाही बढ़ी है। हजारों लोग ग्रामीण क्षेत्रों में इस सड़क के बंद होने से प्रभावित हैं। लोनिवि ने कहा कि राज्य में एक दिन पहले से 190 सड़कें बंद थीं। रविवार को 232 सड़कें और बंद हो गईं। रविवार शाम तक, 422 सड़कों में से 147 को ही खोला जा सका।

लोनिवि के प्रमुख अभियंता दीपक यादव ने बताया कि राज्य में तीन राष्ट्रीय राजमार्ग, नौ राज्य राजमार्ग, सात मुख्य जिला राजमार्ग, एक जिला राजमार्ग, 108 ग्रामीण राजमार्ग और 147 पीएमजीएसवाई राजमार्ग बंद हैं। रविवार को सड़कों को खोलने की प्रक्रिया में 234 जेसीबी मशीनें लगाई गईं। राज्य की अधिकांश ग्रामीण सड़कें बंद हैं। ग्रामीणों को इससे जिला मुख्यालय पहुंचने में कठिनाई हो रही है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles