24.7 C
Dehradun
Thursday, April 18, 2024

Uttarakhand में मौसम: कोटद्वार में भी फंसे हुए यात्री, ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे हिंडोलाखाल के पास दूसरे दिन भी बंद

हिंडोलाखाल में सिलवन के पास पहाड़ी से मलबा गिरने से ऋषिकेश-गंगोत्री राजमार्ग बंद हो गया। लगातार बारिश के कारण मलबा आने से समस्या बढ़ गई है। कोटद्वार-पौड़ी राजमार्ग भी ढाई घंटे ठप रहा है।

दूसरे दिन भी हिंडोलाखाल के पास ऋषिकेश-गंगोत्री राजमार्ग बंद रहा। सिलवन में पहाड़ी से निकलने वाले मलबे को जेसीबी और पोकलैंड से लगातार हटाया जाता है। NHC पर यातायात बहाल नहीं होने से छोटे वाहनों का संचालन आगराखाल-द्यूली-भोगपुर थानों मोटर मार्ग से होता है।

धनोल्टी-मसूरी से टिहरी से ऋषिकेश, देहरादून और हरिद्वार जाने वाले बड़े वाहनों का संचालन होता है। हाईवे बंद होने से नई टिहरी में पेट्रोल की किल्लत बढ़ी है। शनिवार को एनएच पूरे दिन बंद रहा, जबकि पिछले दिन शुक्रवार को बस दो घंटे ट्रैफिक था।

शुक्रवार को दोपहर 12 बजे हिंडोलाखाल में पहाड़ी से मलबा आने से हाईवे बंद हो गया। मलबा हटाने के लिए दिन-रात तीन जेसीबी और एक पोकलैंड मशीन लगाई गई हैं, लेकिन लगभग 150 मीटर ऊपर पहाड़ से लगातार भूस्खलन हो रहा है। शनिवार को शाम लगभग छह बजे तक NH खुल नहीं पाया।

पेट्रोल किल्लत

एमजीसीपीएल कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर एमके यादव ने बताया कि तेज बारिश और निरंतर भूस्खलन से मलबा हटाने में मुश्किल हो रही है। मलबा देर रात तक साफ किया जाएगा। दूसरे दिन भी राजमार्ग बंद रहने से छोटे वाहन आगराखाल-द्यूली-भोगपुर थानों से मोटर मार्ग से चल रहे हैं।

ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे के बाधित होने से शनिवार अपराह्न बाद चंबा और नई टिहरी में पेट्रोल की किल्लत बढ़ी है। बौराड़ी पेट्रोल पंप में शेष पेट्रोल नहीं है। लोगों को पेट्रोल पंप से बेरंग लौटना होगा। फिलहाल चंबा में पेट्रोल की कमी नहीं है। पेट्रोल पंप प्रबंधक सीएस सजवाण ने कहा कि डीजल उपलब्ध था। रविवार सुबह हाईवे खुलने पर पेट्रोल टैंकर भी आ जाएगा। नई टिहरी गैस एजेंसी के प्रबंधक मोहन लाल ने कहा कि रसोई गैस गोदाम में 218 सिलिंडर हैं। हिंडोलाखाल में 288 सिलिंडर वाला एक ट्रक फंसा हुआ है।

मलबा आने से कोटद्वार-पौड़ी हाईवे ढाई घंटे ठप रहा, वाहनों में फंसे रहे यात्री

शनिवार सुबह, क्षेत्र में लगातार बारिश के कारण मलबा आने से कोटद्वार-पौड़ी हाईवे पर यातायात दो घंटे तक ठप रहा। जेसीबी चालक मलबे की चपेट में आने से बच गया। राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग ने छोटे वाहनों के लिए यातायात शुरू किया। मलबा आने से कुछ सड़कें बहुत खराब हैं।

शनिवार तड़के से ही तीन दिन बाद शुक्रवार शाम को हाईवे खुलने से वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई। सुबह छह बजे अधिकांश वाहन पौड़ी की ओर चले गए। DFO आवासों के बीच लोनिवि कॉलोनी हाईवे पर पहाड़ी का एक बड़ा हिस्सा सड़क पर गिर गया। एक मैक्स वाहन मलबे की चपेट में आने से बच गया। बड़ी मात्रा में मलबा होने से यातायात ठप पड़ा। NHC अधिकारियों ने सूचना पर जेसीबी मशीन लेकर सड़क की सफाई शुरू की।

यातायात खुलने पर लोगों को राहत मिली

सफाई करते समय पहाड़ी से मलबा गिरा। जिसमें मशीन चालक बच निकला। लेनिक बैटरी तोड़ दी गई। इसके बाद हाईवे से मलबे को सफाई करके जेसीबी को चलने लायक बनाया गया। इस बीच, सड़क के दोनों ओर वाहनों की एक लंबी रेखा लगी हुई थी। स्कूल जाने वाले शिक्षक अपने गाड़ी में ही फंसे रहे, इसलिए वे विद्यालय में देरी से पहुंचे। अन्य पर्वतीय स्थानों को जाने वाले यात्री भी परेशान रहे। यातायात करीब 8:30 बजे खुलने पर लोगों ने राहत की सांस ली।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles