20.4 C
Dehradun
Wednesday, April 17, 2024

Uttarakhand में मौसम: CM धामी ने उच्च स्तरीय बैठक की, चारधाम यात्रा 15 अगस्त तक स्थगित कर दी

Today’s Uttarakhand Weather Update: CM धामी ने कहा कि मौसम की स्थिति के कारण चारधाम यात्रा को दो दिन के लिए स्थगित कर दिया गया है। श्रद्धालुओं से अनुरोध है कि वे मौसम के अनुरूप अन्य स्थानों पर भी यात्रा करें।

उत्तराखंड में भारी बारिश के चलते उपजी आपदा की स्थिति को देखते हुए सोमवार को सीएम धामी ने एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई। इस दौरान उन्होंने अतिवृष्टि से प्रभावित क्षेत्रों और राहत और बचाव प्रक्रियाओं की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने बताया कि मौसम की स्थिति को देखते हुए चारधाम यात्रा को दो दिन के लिए स्थगित कर दिया गया है। श्रद्धालुओं से अनुरोध है कि वे मौसम के अनुरूप अन्य स्थानों पर भी यात्रा करें।

उसने कहा कि एसडीआरएफ की टीमें हर जगह राहत और बचाव में लगी हैं जहां भी कोई मर गया है। उन्होंने बैठक के दौरान सभी अधिकारियों और एसडीआरएफ के सभी दलों को 24 घंटे अलर्ट मोड पर रहने का आदेश दिया। बता दें कि चारधाम यात्रा 22 अप्रैल से शुरू हुई थी। अब तक 58 लाख से अधिक लोगों ने यात्रा के लिए पंजीकरण कराया है। 36.65 लाख से अधिक लोग इसे देख चुके हैं।

CM धामी ने सोमवार को भारी बारिश से प्रभावित पौड़ी गढ़वाल जिले के यमकेश्वर ब्लॉक का हवाई सर्वेक्षण किया। उन्होंने आपदा प्रबंधन सचिव रंजीत सिन्हा और पौड़ी जिलाधिकारी आशीष चौहान को प्रभावित लोगों को जल्द से जल्द राहत और सहायता देने का निर्देश दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में भारी बारिश की स्थिति को देखते हुए लगातार अलर्ट रहना चाहिए। प्रभावितों को कम से कम समय में सहायता देनी है। चार धाम यात्रा मार्गों पर स्थिति की लगातार जांच की जाती है। साथ ही, उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को विभिन्न स्थानों पर बाधित हुई सड़कों की मरम्मत करने का आदेश दिया। साथ ही, आपदा से प्रभावित लोगों को तत्काल राहत देने, जलभराव वाले क्षेत्रों में पानी की निकासी को सुधारने और उन क्षेत्रों में दवा के छिड़काव पर ध्यान देने को कहा है।

CM ने अधिकारियों को भी विभिन्न क्षेत्रों में आपदा से हुई विभिन्न क्षति का व्यापक आकलन करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा पहला प्रयास है कि राज्य में मानसूनी बरसात से जो समस्याएं पैदा हुई हैं, उन्हें सामान्य किया जाए और आपदा से प्रभावित लोगों को आवश्यकतानुसार त्वरित सहायता और राहत दी जाए।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles