14.5 C
Dehradun
Saturday, February 17, 2024

Uttarakhand: रुद्रप्रयाग में निर्माण कार्य का 35% से अधिक पूरा, गौरीकुंड हाईवे को बदरीनाथ हाईवे से जोड़ेगी सुरंग

सुरंग का निर्माण पिछले वर्ष 3 दिसंबर को कार्यदायी संस्था भारत कंस्ट्रक्शन कंपनी ने शुरू किया। यह सुरंग बनाने का मुख्य उद्देश्य जिला मुख्यालय में दिन-प्रतिदिन होने वाले जाम को दूर करना है और लोगों को कलक्ट्रेट और विकास भवन तक आसानी से पहुंच देना है।

ऋषिकेश-गौरीकुंड और ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग को जोड़ने के लिए रुद्रप्रयाग जिला मुख्यालय में प्रस्तावित 900 मीटर सुरंग का निर्माण कार्य लगभग 35% से अधिक पूरा हो चुका है। गौरीकुंड हाईवे के जखतोली और रुद्रप्रयाग-चोपड़ा मार्ग पर बेलणी छोर से सुरंग बनाने के लिए कार्यदायी संस्था लगातार काम कर रही है।

इसके अलावा, अलकनंदा नदी पर बनने वाले डबल लेन मोटर पुल, जो 200 मीटर लंबा होगा, खुदाई की जा रही है। भारत सरकार की ऑलवेद रोड परियोजना का दूसरा चरण रुद्रप्रयाग शहर में सुरंग का निर्माण हो रहा है।

सुरंग लगभग एक वर्ष में बनकर तैयार हो जाएगी।

यह सुरंग बनाने का मुख्य उद्देश्य जिला मुख्यालय में दिन-प्रतिदिन होने वाले जाम को दूर करना है और लोगों को कलक्ट्रेट और विकास भवन तक आसानी से पहुंच देना है। सुरंग का निर्माण पिछले वर्ष 3 दिसंबर को कार्यदायी संस्था भारत कंस्ट्रक्शन कंपनी ने शुरू किया।

इस सुरंग का दोनों तरफ लगभग 400 मीटर का निर्माण आठ महीने में पूरा हो गया है। अधिकारी कहते हैं कि सुरंग लगभग एक वर्ष में बनकर तैयार हो जाएगी। इस सुरंग के बनने से रुद्रप्रयाग में यात्रा के दौरान लगने वाले जाम से छुटकारा मिलेगा। वहीं, अगस्त्यमुनि, ऊखीमठ और जखोली ब्लॉक के गांवों के लोगों को कलक्ट्रेट, विकास भवन और तहसील तक आसानी से पहुँच मिलेगी। यह सुरंग पर्यटन स्थल भी बनेगी।

सुरंग की जानकारी

2008-09 में BRO ने भारत सरकार को प्रस्ताव भेजा।
2016 में सुरंग का प्रारंभिक सर्वे हुआ था।

विशेषज्ञों ने पूरे सर्वेक्षण को तीन चरणों में पूरा किया।
2019 में सुरंग बनाने की सैद्धांतिक अनुमति मिली।

2021 में सुरंग और पुल का शिलान्यास हुआ।
सुरंग और पुल से गौरीकुंड और बदरीनाथ राजमार्ग जुड़ेंगे।

200 मीटर लंबा दो लेन पुल बनेगा

रुद्रप्रयाग। बेलणी में सुरंग को बदरीनाथ हाईवे से जोड़ने के लिए अलंनकदा नदी पर दो लेन का पुल बनाया जाना है, जो 200 मीटर लंबा होगा। पुल के एबेडमेंट निर्माण के लिए नदी के दोनों तरफ खुदाई की जा रही है। यहां कठोर चट्टानी क्षेत्र मशीनों से काटा जा रहा है।

उम्मीद की गई गति से सुरंग निर्माण चल रहा है। कार्यदायी संस्था सही ढंग से काम कर रही है। सुरंग बनाने की हर दिन की रिपोर्ट संस्था से मांगी जाती है। सुरंगों और पुलों को जून 2025 तक पूरा करने का लक्ष्य है। – राजवीर सिंह चौहान, लोनिवि, रुद्रप्रयाग राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण खंड का अधिशासी अभियंता

 

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles