30.2 C
Dehradun
Wednesday, April 10, 2024

Uttarkashi News: ओजरी डाबरकोट से छुटकारा पाने का वैकल्पिक उपाय अधर में

मार्ग बंद होने पर दूसरा रास्ता हो सकता है, जो यात्रा को सुविधाजनक बना सकता है

यमुनोत्री हाईवे पर ओजरी डाबरकोट भूस्खलन क्षेत्र से छुटकारा पाने के लिए एक वैकल्पिक मार्ग का निर्माण अधर में है। ओजरी डाबरकोट में भूस्खलन के कारण यमुनोत्री राजमार्ग तीन दिनों तक बंद रहा।

2017 से यमुनोत्री हाईवे पर ओजरी डाबरकोट भूस्खलन क्षेत्र सक्रिय है। उस समय भूस्खलन ने चारधाम यात्रा को लगभग पचास दो दिन तक बाधित कर दिया था. इससे यमुनोत्री धाम आने वाले श्रद्धालुओं और धाम से लगी गीठ पट्टी के बारह गांवों के लोगों को कठिनाईयों का सामना करना पड़ा। 2018 में, तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गंगनानी कुंड की जातर में यहां वैकल्पिक मार्ग बनाने का ऐलान किया था। यमुनोत्री राजमार्ग पर ओजरी डाबरकोट से ओजरी तिर्खली स्यानाचट्टी तक लगभग ढाई किमी का वैकल्पिक मोटर मार्ग बनाने के लिए लगभग सात करोड़ रुपये का डीपीआर कार्यदायी संस्था लोनिवि बड़कोट ने बनाया था। इसके लिए सर्वे कर से ओजरी तिर्खली गांव के लोगों को 64 लाख रुपये प्रतिकर दिए गए, जिसमें 32 लाख रुपये पहले से ही बाँट दिए गए हैं।

यमुना नदी पर दोनों गांवों के बीच 80 मीटर स्पान के मोटर पुल का निर्माण भी डीपीआर में प्रस्तावित है. 2018-19 में आधे-अधूरे काम के बाद से मोटर पुल का निर्माण अधर में है। ब्लाॅक प्रमुख अध्यक्ष सरोज पंवार, पुरोहित महासभा अध्यक्ष पुरुषोत्तम उनियाल, अजबीन पंवार, पवन उनियाल, राकेश रावत, भगत सिंह, चंद्र मोहन और एलम सिंह ने शीघ्र वैकल्पिक मोटर मार्ग का निर्माण पूरा करने की मांग की है। लोनिवि के ईई मनोहर सिंह धर्मसक्तू ने कहा कि उनके पास उक्त सड़क के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles