22.8 C
Dehradun
Tuesday, April 16, 2024

Badrinath हाईवे: लामबगड़ में 20 मीटर हिस्सा बहा, दस घंटे फंसे रहे यात्री

शनिवार को बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग में खचड़ा नाला और लामबगड़ नाला के कारण करीब 10 घंटे की अवधि में बाधित रहा। हाईवे का करीब 20 मीटर हिस्सा लामबगड़ नाले में बह गया है। यहां, सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने वाहनों की आवाजाही के लिए वैकल्पिक सड़क बनाया है। लेकिन नाले में अभी भी अधिक पानी होने के कारण छोटे वाहन फंस रहे हैं।

यात्रा वाहनों को पुलिस और एसडीआरएफ के जवानों की मौजूदगी में चलाया जा रहा है। पहाड़ी से मलबा छिनका में भी लगभग एक घंटे तक हाईवे पर वाहनों की आवाजाही रोक दी गई। शुक्रवार रात को भारी बारिश से बदरीनाथ हाईवे लामबगड़ नाले में 20 मीटर तक बह गया।

यहां पानी के साथ भारी मात्रा में मलबा आया और सड़क पर बोल्डर आए। खचड़ा नाला भी ऊफान पर आने से हाईवे नाला बन गया। शनिवार सुबह लगभग पांच बजे पुलिस को लामबगड़ और खचड़ा नाले में हाईवे बंद होने की सूचना मिली. बदरीनाथ धाम से लौट रहे लगभग 500 यात्रियों को धाम में ही रोका गया, जबकि बदरीनाथ की ओर जा रहे लगभग 1000 यात्रियों को पांडुकेश्वर और लामबगड़ में रोका गया।

बीआरओ ने सुबह सात बजे बारिश कम होने पर जेसीबी से हाईवे को खोलने की प्रक्रिया शुरू की। बोल्डरों को अलकनंदा की ओर भेजा गया। इसके बाद पानी निकाला गया। यहां अपराह्न करीब तीन बजे वाहनों की आवाजाही शुरू हुई। छोटे वाहनों के पत्थरों में फंसने के कारण पर्यटकों को कुछ दूरी तक पैदल चलना पड़ा। तीन बजे तक भी खचड़ा नाला हाईवे को सुचारू कर सका। अपराह्न दो बजे छिनका में भी हाईवे पर मलबा आने से करीब एक घंटे तक वाहनों की आवाजाही बाधित रही।

देश में 10 राज्य हाईवे सहित 213 सड़कें अभी भी बंद हैं। लोनिवि के प्रमुख अभियंता दीपक यादव ने कहा कि सड़कों और पुलों को पूर्ववत स्थिति में लाने में 30522.60 लाख रुपये खर्च होंगे। 208.17 लाख रुपये अभी जिलों को दिए गए हैं। मानसून सीजन शुरू होने से 56 पुलों को भी क्षति हुई है।

जरी बारिश के बीच गंगोत्री और यमुनोत्री राजमार्ग बंद और खुलते रहते हैं। ओजरी-डाबरकोट राजमार्ग मलबा आने के कारण करीब छह घंटे तक बंद रहा। एनएच की मशीनरी ने इसे आवाजाही के लिए खुला दिया। गंगोत्री राजमार्ग भी धरासू के निकट चार घंटे तक बंद रहा। बीआरओ ने इसे आवाजाही के लिए उपलब्ध कराया। शनिवार सुबह से ही राज्य में लगातार बारिश हो रही है। इसलिए गंगोत्री और यमुनोत्री राजमार्ग पर कई स्थानों पर बंद और खुले हुए हैं। हाईवे की स्थिति लोगों को मुसीबत में डाल रही है।

मार्ग खुलने के लिए स्थानीय लोगों को घंटों इंतजार करना पड़ा है। शनिवार सुबह ओजरी-डाबरकोट मार्ग बंद रहा, और दोपहर में पालीगाड़ और तलोग में मलबा आने के कारण ओजरी-डाबरकोट मार्ग भी बंद रहा। एनएच विभाग ने कभी-कभी इसे आवाजाही के लिए खुला रखा। वहीं धरासू और सुनगर के आसपास गंगोत्री राजमार्ग बंद रहा। बीआरओ की मशीनरी ने भी बहुत मेहनत के बाद इसे आवाजाही के लिए तैयार किया।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles