23.2 C
Dehradun
Saturday, April 20, 2024

उत्तराखण्ड में भारी बारिश: पहाड़ से मैदान तक बरसी आफत, कई लोग बहे, भवन ध्वस्त हो गए, तबाही बयां करते चित्र

उत्तराखंड में मौसम अभी भी बदतर है। बारिश पहाड़ से मैदान तक भयानक है। नदी-नाले बह रहे हैं। वहीं, रुद्रप्रयाग और कोटद्वार में भूस्खलन से इमारतें ध्वस्त हो गईं । नैनीताल और ऋषिकेश में दो व्यक्ति बरसाती पानी में बह गए।

आज राजधानी दून सहित आठ जिलों में भारी बारिश होने की उम्मीद है। मौसम विभाग ने देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल, चम्पावत, बागेश्वर, पिथौरागढ़ और ऊधमसिंह नगर में भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है।

इसके अलावा, राज्य में 210 सड़कें बंद हैं। बंद सड़कों में १३ मुख्य जिला मार्ग, आठ जिला मार्ग, चार अन्य जिला मार्ग, ९० ग्रामीण सड़कें और ९५ पीएमजीएसवाई सड़कें शामिल हैं। सोमवार को सड़कों को खोलने के काम में 185 जेसीबी मशीनें लगाई गईं।

मंगलवार सुबह रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाईवे पर भारी भूस्खलन हुआ। रास्ते में रामपुर में एक होटल ढह गया। वहीं, अगस्त्यमुनि से सोनप्रयाग के बीच मार्ग कई जगह बाधित है। माना जाता है कि शहर का सबसे पुराना होटल यह था। यह पहले भी खाली कराया गया था।

ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर तोता घाटी में भारी भूस्खलन हुआ। जिससे इस स्थान पर सड़क का आधा हिस्सा ढह गया। इससे सड़कों पर यातायात बाधित हो गया है। उधर, सोमवार से व्यासी के निकट अटाली गंगा में मलबा आने से राजमार्ग अवरुद्ध है।

सोमवार देर रात भारी बारिश से नैनीताल में जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। चोरगलिया में बारिश से शेर नाला अचानक उफान पर आ गया। एक ग्रामीण नाला इस दौरान तेज बहाव में बह गया। वहीं, तेज बहाव से नाले के दोनों तरफ वाहनों की कतार भी लग गई।

देर रात भारी बारिश के बाद ऋषिकेश में बरसाती नाला उफान पर आ गया। इस दौरान तेज बहाव से एक युवा बह गया। SDRF ने सूचना मिलने पर सर्च ऑपरेशन शुरू किया। टीम ने युवक की हत्या शिवपुरी से की है।

ओजरी डाबरकोट भूस्खलन क्षेत्र में पहाड़ी से मलबा और बोल्डर गिरने का सिलसिला अभी भी जारी है, जो चारधाम यात्रा को परेशान कर चुका है। जब चटख धूप खिलती है, पहाड़ी से पत्थर और बोल्डर गिरते हैं। रास्ते में वाहनों को सुरक्षित स्थानों पर रोका गया है।

सोमवार देर रात कोटद्वार के दुगड्डा ब्लॉक के राजकीय प्राथमिक विद्यालय जखमोला ख्वाल में भारी भूस्खलन हुआ। इससे एक स्कूल बर्बाद हो गया। स्कूल का लगभग आधा हिस्सा मलबे में धंस गया है, जैसा कि उपखंड अधिकारी अमित चंद ने बताया। इससे बच्चों को छुट्टी मिली है। ग्राम पंचायत घर में बुधवार से पाठ्यक्रम शुरू होगा।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles