28.7 C
Dehradun
Wednesday, April 17, 2024

तीन शवों की शिनाख्त हुई, 20 लोग अभी भी लापता हैं, मलबे के ढेर में जीवन की तलाश जारी है

शुक्रवार को बरामद हुए तीन शवों को शिनाख्त किया गया। हादसे में मरने वालों में से चौदह नेपाली हैं, चार रुद्रप्रयाग जनपद और दो अन्य राज्यों से हैं।

भूस्खलन हादसे में मरने वाले तीन लोगों को पहचान लिया गया है। तीनों नेपाली हैं। इससे घटना में लापता लोगों की संख्या अब २० हो गई है। तीन लोग मर गए हैं। शनिवार को दिन भर खोज जारी रही, लेकिन लापता लोगों में से किसी का शव नहीं पाया गया।

जिला प्रशासन ने कहा कि रविवार को सुबह 5.30 बजे से पुन: घटनास्थल से नदी किनारे तक खोज शुरू होगी। सिंगोली-भटवाड़ी जलविद्युत परियोजना के बैराज में भी जलपुलिस खोज कर रही है।

तीन शव शुक्रवार को बरामद हुए हैं, जिलाधिकारी डॉ. सौरभ गहरवार ने बताया कि वे प्रकाश टम्टा, देवी बहादुर और टेक बहादुर हैं। मृतकों के परिजनों ने शिनाख्त की है, फिर शवों को पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय भेजा गया है।

हादसे में लापता 14 लोगों में से 14 नेपाली हैं

उस दिन की सूची में शेष २० लोग अभी भी गायब हैं। उनका कहना था कि लापता लोगों की खोज में हर संभव उपाय किया जा रहा है। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार ने बताया कि हादसे में लापता लोगों में 14 नेपाली हैं, चार रुद्रप्रयाग जनपद के गांवों से और दो अन्य राज्यों से। हादसे के बाद शुक्रवार को मिले तीन लोगों के नाम जारी सूची में नहीं थे।

गौरीकुंड में प्रशासन ने चालीस दुकानें खाली कराकर तोड़ीं

हादसे के बाद, गौरीकुंड बाजार से डाटपुल से आगे एक किमी क्षेत्र में बनाई गई कच्ची दुकानों को मशीन से खाली करना शुरू कर दिया गया है। यहां पहले चरण में चालिस दुकानें ध्वस्त कर दी गईं। शेष स्टोर मालिकों को भी तुरंत अपनी दुकानें खाली करने का आदेश दिया गया है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles